होम ताज़ा खबर 40 जवानों की शहादत को ना भूलेंगे, ना बख्शेंगे: सीआरपीएफ

40 जवानों की शहादत को ना भूलेंगे, ना बख्शेंगे: सीआरपीएफ

जम्मू-कश्मीर के पुलवाम में हुए आत्मघाती हमले से पूरा देश गुस्से में है। हर कोई इस बर्बरता का बदला लेने की बात कर रहा है।

crpf
Source: Twitter

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवाम में हुए आत्मघाती हमले से पूरा देश गुस्से में है। हर कोई इस बर्बरता का बदला लेने की बात कर रहा है। जितना गुस्सा देश के लोगों में है उतना ही गुस्सा सेना को भी है।

इसे भी पढ़ें: सिर्फ एक सवाल: पुलवामा आतंकी हमले से हिला हिन्दूस्तान

सीआरपीएफ ने किया ट्वीट

सीआरपीएफ ने इस हमले पर गुस्सा दिखाते हुए कहा कि, जघन्य अपराध का बदला जरूर लिया जाएगा।

CRPF की ओर से ट्वीट किया गया, ‘’ हम भूलेंगे नहीं, हम बख्शेंगे नहीं: पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों को हम सलाम करते हैं और उनके परिवार वालों के साथ खड़े हैं। इस जघन्य हमले का बदला लिया जाएगा।’’

इसे भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर में आत्मघाती आतंकी हमला, 12 जवान शहीद, कई घायल

आपको बता दें कि पुलवामा में गुरुवार को जो आतंकी हमला हुआ उसमें CRPF के 40 जवान शहीद हुए हैं। शहीद जवानों को श्रीनगर से नई दिल्ली लाया जा रहा है, जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण शहीदों को श्रद्धांजलि देंगे।

सेना के सुर में सरकार ने मिलाया सुर

सुरक्षाबलों के साथ ही मोदी सरकार ने भी आतंकियों के खिलाफ हल्ला बोलने की तैयारी कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार सुबह ही कहा कि आतंकियों ने सबसे बड़ी गलती कर दी है, उन्हें इस गलती की सजा भुगतनी होगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने सुरक्षाबलों को खुली छूट दी है।

इसे भी पढ़ें: सीबीएसई के एग्जाम कल से शुरू, बनाए गए ये नियम

प्रधानमंत्री के बयान के बाद से ही पुलवामा के आस-पास के गांवों में सर्च ऑपरेशन जारी है, अभी तक 5 संदिग्धों को हिरासत में ले लिया गया है। जबकि नई दिल्ली में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल भी सभी सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं और आगे की रणनीति पर काम कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: वेलेंटाइन डे पर इस तरह करें अपने पार्टनर को इंप्रेस

पुलवामा हमले पर शुक्रवार सुबह सुरक्षा मामलों के केंद्रीय समिति की बैठक भी हुई, इस बैठक में फैसला लिया गया है कि पाकिस्तान को अभी तक जो मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा दिया गया था वह वापस ले लिया गया है।

इसके अलावा विदेश मंत्रालय भी दुनिया भर में पाकिस्तान को अलग-थलग करने के लिए कूटनीतिक तौर पर काम करेगा। CCS की बैठक में फैसला हुआ है कि गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अगुवाई में सर्वदलीय बैठक बुलाई जाएगी, जिसपर हर पहलुओं पर चर्चा की जाएगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here