14 महीने-7 राज्य : म.प्र-राजस्थान से लेकर दिल्ली, बीजेपी के लिए पड़े भारी

by Mahima Bhatnagar

नई दिल्ली। बीजेपी का साल 2018 के दिसंबर से शुरू हुआ। विधानसभा चुनाव में हार का सिलसिला 2020 में भी जारी है। दिल्ली विधानसभा चुनाव की जंग जीतने के लिए बीजेपी ने हर मुमकिन कोशिश की थी, लेकिन नेताओं की तमाम कोशिशों के बाद भी दिल्ली की सत्ता बीजेपी के हाथ नहीं लग पाई। दिल्ली की हार के साथ पिछले 14 महीनों में बीजेपी को सात राज्यों में अपनी हार का सामना किया है। जिसमें से पांच राज्यों में उसे अपनी सत्ता गवांनी पड़ी है।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली चुनाव 2020: इन कारणों से जीत की तरफ बढ़ रहे हैं अरविंद केजरीवाल और आप

दिल्ली में बीजेपी की हार

दिल्ली चुनाव में कुल 70 सीटों में से आम आदमी पार्टी को 62 और बीजेपी को महज 8 सीटें मिली हैं, जबकि कांग्रेस अपना खाता ही नहीं खोल पाई है। जिसको देखकर लग रहा है कि दिल्ली में बीजेपी का वनवास खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। हालांकि दिल्ली के प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी 48 सीटों पर जीत के अनुमान के साथ सत्ता में आने की उम्मीद अंतिम क्षणों तक लगाए हुए थे, जो पूरा नहीं हो सका और बीजेपी के लिए देश का सियासी नक्शा नहीं बदल सका।

2014 के बाद देश भर में भगवा रंग का चढ़ा खुमार

manoj-tiwari

केंद्र की सत्ता में मोदी के आने के बाद बीजेपी का ग्राफ देश भर में बढ़ता चला गया। 2014 में बीजेपी की सरकार सिर्फ 7 राज्यों में थी। मोदी लहर के चलते केंद्र की सत्ता में आने के बाद बीजेपी एक के बाद एक राज्य पर अपना कब्जा बनाती नजर आने लगी। 2015 में वह 13 राज्यों तक पहुंची, 2016 में वह 15 राज्यों तक पहुंची, 2017 में 19 राज्यों तक बीजेपी फैली और 2018 के मध्य तक भाजपा 21 राज्यों में अपना परचम लहराने में सफल हुई थी, लेकिन पार्टी की उलटी गिनती यहीं से शुरू हुई, जो दिल्ली में भी बरकरार रही।

Loading...

इसे भी पढ़ें: दिल्ली चुनाव 2020: किस सीट पर किसकी पकड़, देखें पूरी लिस्ट

बीजेपी के हाथों से खिसकी तीन राज्यों की सत्ता

बीजेपी की हार का सिलसिला 2018 के आखिर में राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव से शुरू हुआ। इन तीनों राज्यों में बीजेपी सत्ता पर काबिज थी, जिनमें राजस्थान में पांच साल से, बाकी दोनों राज्यों में 15 साल से सत्ता में थी। बीजेपी को इन तीनों राज्यों में कांग्रेस के हाथों करारी हार का सामना करना पड़ा। इन तीनों राज्यों के चुनाव से ऐन पहले बीजेपी को दक्षिण भारत के कर्नाटक चुनाव में भी झटका लगा था, जब नतीजे आने के बाद कांग्रेस और जेडीएस ने मिलकर सरकार बना लिया था। हालांकि पिछले साल कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों की बगावत के बाद बीजेपी सत्ता पर काबिज होने में कामयाब हो गई।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली चुनाव 2020: 70 सीटों का क्या है समीकरण

बीजेपी ने गवां दी झारखंड-महाराष्ट्र की सत्ता

साल 2019 के आखिर में महाराष्ट्र, हरियाणा और झारखंड में विधानसभा चुनाव हुए। इन तीनों राज्यों की सत्ता पर बीजेपी काबिज थी, जिनमें से बीजेपी महज हरियाणा में जेजेपी के समर्थन से सरकार बना सकी। इसके अलावा में महाराष्ट्र में शिवसेना ने बीजेपी का साथ छोड़कर कांग्रेस-एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बना लिया। झारखंड में बीजेपी को करारी हार का मुंह देखना पड़ा और सत्ता भी गवांनी पड़ी।

Trending Videos



Loading...

Related Articles

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.