Home ट्रेंडिंग न्यूजकोविड -19 फिर बेकाबू हुआ कोरोना, बढ़ी केस की संख्या

फिर बेकाबू हुआ कोरोना, बढ़ी केस की संख्या

by Mahima Bhatnagar
Corona cases

भारत में बढ़ते कोरोना केस ने लोगों को फिर से परेशान कर दिया है। क्योंकि अब दोबारा से कोरोना की रफ्तार बढ़ गई है। बीते 24 घंटे में देश में 53 हजार से अधिक कोरोना वायरस के नए केस दर्ज हुए हैं। करीब पांच महीने के बाद भारत में 50 हजार कोरोना केस का आंकड़ा पार हुआ है, जो डराने वाला है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना गाइडलाइंस: इन राज्यों में लग सकती है होली पर रोक

केंद्रीय स्वास्थय केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में देश में 53,476 नए मामले दर्ज किए गए हैं। जबकि 251 लोगों की मौत हुई है। साथ ही 26490 लोग कोरोना वायरस को मात देकर ठीक हुए हैं। इन्हीं आंकड़ों के साथ अब देश में कुल केस की संख्या 1,17,87,534 पहुंच गई है। जबकि एक्टिव केस की संख्या 3,95,192 हो गई है। भारत में अबतक कोरोना वायरस के कारण 1,60,692 लोगों की मौत हुई है। अगर वैक्सीनेशन पर नज़र डालें तो भारत में अबतक 5,31,45,709 वैक्सीन की डोज दी जा चुकी हैं। 

इसे भी पढ़ें: कोविड का खौफ करेगा होली के रंग को फीका?

डरा रहा है महाराष्ट्र का कोरोना ग्राफ

देश में सबसे अधिक भयावह स्थिति महाराष्ट्र से सामने आई है, जहां बीते दिन 31 हजार से अधिक कोरोना के केस दर्ज हुए। महाराष्ट्र में हर दिन कोरोना वायरस के नए मामले अपने ही पुराने रिकॉर्ड को तोड़ रहे हैं। यही कारण है कि अब राज्य के कई शहरों में सम्पूर्ण लॉकडाउन लग चुका है। महाराष्ट्र में अब एक्टिव केस की संख्या भी ढाई लाख हो गई है, जो पूरे देश के आंकड़ो के आधे केस हैं।

इसे भी पढ़ें: तो क्या भारत में भी लगेगी कोविशील्ड पर रोक?

महाराष्ट्र की तरह ही दिल्ली में भी खौफ

देश की राजधानी दिल्ली भी फिर से कोरोना की चपेट में आती हुई दिख रही है। यहां भले ही महाराष्ट्र जैसे डराने वाले आंकड़े नहीं हैं, लेकिन बीते कुछ वक्त से जो ट्रेंड चल रहा था वो टूट चुका है। बीते दिन ही दिल्ली में 1200 से अधिक केस दर्ज किए गए, जो इस साल का सबसे बड़ा आंकड़ा है। ऐसे में दिल्ली में सख्ती बढ़ा दी गई है,बाजारों-मॉल-मल्टीप्लेक्स में कोरोना गाइडलाइन्स का पालन अनिवार्य हो गया है।

इसे भी पढ़ें: क्या वैक्सीन लगवाने के बाद भी हो सकता है कोरोना?

महाराष्ट्र और दिल्ली के अलावा कई ऐसे राज्य भी हैं, जहां बीते दिन जो केस सामने आए वो इस साल का सबसे बड़ा आंकड़ा है। कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, बंगाल इन्हीं राज्यों की लिस्ट में शामिल हैं। वहीं, यूपी में भी जनवरी के बाद पहली बार 700 से अधिक केस दर्ज किए गए।

Related Articles

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.