Chhattisgarh (छत्तीसगढ़)

इतिहास

छत्तीसगढ़ भारत का एक राज्य है। इसका गठन 1 नवम्बर 2000 को हुआ था और यह भारत का 26 वां राज्य है। पहले यह मध्य प्रदेश के अन्तर्गत था। कहते हैं किसी समय इस क्षेत्र में 36 गढ़ थे, इसीलिये इसका नाम छत्तीसगढ़ पड़ा। किंतु गढ़ों की संख्या में वृद्धि हो जाने पर भी नाम में कोई परिवर्तन नहीं हुआ, छत्तीसगढ़ भारत का ऐसा राज्य है जिसे ‘महतारी'(मां) का दर्जा दिया गया है।

भारत में दो क्षेत्र ऐसे हैं जिनका नाम विशेष कारणों से बदल गया – एक तो ‘मगध’ जो बौद्ध विहारों की अधिकता के कारण “बिहार” बन गया और दूसरा ‘दक्षिण कौशल’ जो छत्तीस गढ़ों को अपने में समाहित रखने के कारण “छत्तीसगढ़” बन गया। “छत्तीसगढ़” तो वैदिक और पौराणिक काल से ही विभिन्न संस्कृतियों के विकास का केन्द्र रहा है। यहां के प्राचीन मन्दिर तथा उनके भग्नावशेष इंगित करते हैं कि यहां पर वैष्णव, शैव, शाक्त, बौद्ध संस्कृतियों का विभिन्न कालों में प्रभाव रहा है। एक संसाधन संपन्न राज्य, यह देश के लिए बिजली और इस्पात का एक स्रोत है, जिसका उत्पादन कुल स्टील का 15% है। छत्तीसगढ़ भारत में सबसे तेजी से विकसित राज्यों में से एक है।

मुख्य पर्यटन स्थल– 

बिलासपुर, भिलाई, मल्हार, मैनपाट

छत्तीसगढ़ की जनसंख्या 2013- 2.55 करोड़

छत्तीसगढ़ की भाषा–  हिन्दी, छत्तीसगढ़ी

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh)

ट्रेंडिंग वीडियो