Jammu and Kashmir (जम्मू और कश्मीर)

इतिहास

जम्मू और कश्मीर जिसे जन्नत कहते हैं, वो अब भारत का केंद्र शासित प्रदेश बन गया है। यह भारतीय उपमहाद्वीप के उत्तरी भाग में स्थित है, और कश्मीर के बड़े क्षेत्र का हिस्सा है, जो 1947 से भारत, पाकिस्तान और चीन के बीच विवाद का विषय रहा है। नियंत्रण रेखा जम्मू और कश्मीर को पश्चिमी और उत्तर में आज़ाद कश्मीर और गिलगित-बाल्टिस्तान के पाकिस्तान प्रशासित क्षेत्रों से अलग करती है। केंद्र शासित प्रदेश भारतीय राज्यों हिमाचल प्रदेश और पंजाब के उत्तर में और लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश के पश्चिम में स्थित है।

जम्मू और कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश में पुनर्गठन के प्रावधान जम्मू और कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम, 2019 के भीतर निहित थे, जिसे अगस्त 2019 में भारत की संसद के दोनों सदनों द्वारा पारित किया गया था। विधेयक का उद्देश्य जम्मू और कश्मीर राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में फिर से गठित करना था। जिसका पुनर्गठन 31 अक्टूबर 2019 से प्रभावी हो गया है।

मुख्य पर्यटन स्थल

वैष्णो देवी मंदिर, पतनितोप, गुलमर्ग, पहलगाम, डलहौजी

जम्मू और कश्मीर की जनसंख्या (2011) – 1.25 करोड़

जम्मू और कश्मीर की भाषा – र्दू, डोगरी, कश्‍मीरी, लद्दाखी, बाल्‍टी, पहाड़ी, पंजाबी, गुजरी और ददरी

जम्मू और कश्मीर का रहन-सहन

जम्मू और कश्मीर में कश्मीरी भाषा संस्कृत से प्रभावित है और गिलगित की विभिन्न पहाड़ी जनजातियों के द्वारा बोली जाती है। उर्दू, डोगरी, कश्‍मीरी, लद्दाखी, बाल्‍टी, पहाड़ी, पंजाबी, गुजरी और ददरी भाषाओं का प्रयोग साधारण नागरिकों द्वारा किया जाता है। कश्मीर की घाटी के निवासी उर्दू या कश्मीरी बोलते हैं।

Jammu and Kashmir Map