Meghalaya (मेघालय)

इतिहास

मेघालय पूर्वोत्तर भारत का एक राज्य है। जिसका शाब्दिक अर्थ है बादलों का घर। राज्य का दक्षिणी छोर मयमनसिंह एवं सिलहट बांग्लादेशी विभागों से लगता है, पश्चिमी ओर रंगपुर बांग्लादेशी भाग तथा उत्तर एवं पूर्वी ओर भारतीय राज्य असम से घिरा हुआ है। राज्य की राजधानी शिलांग है। भारत में ब्रिटिश राज के समय तत्कालीन ब्रिटिश शाही अधिकारियों द्वारा इसे “पूर्व का स्काटलैण्ड” संज्ञा दी गयी थी। मेघालय पहले असम राज्य का ही भाग था, 21 जनवरी 1972 को असम के खासी, गारो एवं जैन्तिया पर्वतीय जिलों को काटकर नया राज्य मेघालय अस्तित्व में लाया गया।

मेघालय में मुख्य रूप से कृषि-आधारित अर्थव्यवस्था है जिसमें वाणिज्यिक वन उद्योग का अत्यन्त महत्त्वपूर्ण स्थान है। यहां की मुख्य फ़सल में आलू, चावल, मक्का, अनान्नास, केला, पपीता एवं दालचीनी, हल्दी आदि बहुत से मसाले, आदि हैं। राज्य में लगभग 1,170 कि.मी. (730 मील) लम्बे राष्ट्रीय राजमार्ग बने हैं। यह बांग्लादेश के साथ व्यापार के लिए एक प्रमुख लाजिस्टिक केंद्र भी है।

मुख्य पर्यटन स्थल

शिलांग, गुवाहाटी, चेरापुंजी, दवा की

मेघालय की जनसंख्या 2012- 26.5 लाख

मेघालय की भाषाअंग्रेजी, खासी, गारो, प्नार, बियाट, हजोंग और बांग्ला

मेघालय (Meghalaya)

लेटेस्ट ट्रेंडिंग वीडियो