Telangana (तेलंगाना)

इतिहास

तेलंगाना भारत के आन्ध्र प्रदेश राज्य से अलग होकर बना भारत का 29 वां राज्य है। हैदराबाद को दस साल के लिए तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की संयुक्त राजधानी बनाया गया है। यह परतन्त्र भारत के हैदराबाद नामक राजवाडे के तेलुगूभाषी क्षेत्रों से मिलकर बना है। ‘तेलंगाना’ शब्द का अर्थ है – ‘तेलुगूभाषियों की भूमि’।

5 दिसम्बर 2013 को मंत्रिसमूह द्वारा बनाये गए ड्राफ्ट बिल को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी। 18 फ़रवरी 2014 को तेलंगाना बिल लोक सभा से पास हो गया तथा दो दिन पश्चात इसे राज्य सभा से भी मंजूरी मिल गयी। राष्ट्रपति के दस्तखत के साथ तेलंगाना औपचारिक तौर पर भारत का 29वां राज्य बन गया है।

राज्य के गठन के समय, तेलंगाना में आंध्र प्रदेश के 23 ज़िलों में से 10 ज़िले आये थे। ये थे: हैदराबाद, अदिलाबाद, खम्मम, करीमनगर, महबूबनगर, मेडक, नलगोंडा और वारंगल। अक्टूबर 2016 में नये राज्य ने इन मूल 10 ज़िलो को पुनर्गठित करा और इनमें से 21 नये ज़िले बनाकर राज्य में कुल ज़िलों की संख्या 31 कर दी।

मुख्य पर्यटन स्थल

रामोजी फिल्म सिटी, बालाजी मंदिर, बिरला मंदिर, सालारजंग संग्रहालय

तेलंगाना की जनसंख्या 2011- 3.52 करोड़

तेलंगाना की भाषा– तेलुगू, उर्दू

तेलंगाना (Telangana)