म.प्रदेश की डांसिंग गर्ल, जिसने ट्रैफिक कंट्रोल करने के लिए अपनाई ये ट्रिक

by Mahima Bhatnagar

नई दिल्ली। कभी आपने किसी को डांस करते हुए ट्रैफिक को संभालते हुए देखा है। अब आप सोच रहे होंगे ये कैसे हो सकता है, डांस के साथ-साथ ट्रैफिक को कंट्रोल करना, बिल्कुल नहीं हो सकता। लेकिन ऐसा होता दिखाई दिया है इंदौर शहर में।

इसे भी पढ़ें: ‘हरे राम’ लिखा बिकिनी टॉप पहनना वाणी कपूर को पड़ा महंगा, ट्रोलर्स का हुई शिकार

सोशल मीडिया पर वायरल हुई डांसिंग गर्ल की वीडियो

इन दिनों इंदौर शहर की एक लड़की जिसका नाम शुभी जैन है, उसकी वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रही है। लेकिन ये वायरल क्यों हो रही है इसके बारे में हम आपको बताते हैं, दरअसल ये वीडियो सोशल मीडिया पर इसलिए वायरल हो रही है, क्योंकि शुभी जो की एमबीए की छात्रा हैं, वो डांसिंग स्टाइल में ट्रैफिक को बहुत बखूबी से कंट्रोल करती नजर आ रही हैं, वो भी माइकल जैक्सन के स्टाइल में।

आप भी सोच रहे होंगे ऐसा कैसे, तो सोचिए मत ये वीडियो देखें जिसको देखकर आपको पता चल जाएगा कि, आखिर उस लड़की ने किस बखूबी से लोगों को ट्रैफिक नियमों का पालन करने की सीख दी।

Loading...

Source: ANI

इसे भी पढ़ें: राधिका आप्टे का हॉट फोटोशूट सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

ट्रैफिक के लिए विजन-2022 

इंदौर शहर में यातायात के सुगम रहे इसके लिए विजन 2022 के नाम से एक योजना तैयार की गई है। इसके तहत शहर के यातायात में सुधार में लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करने की योजना को एक रूप दिया जा रहा है। इसके लिए शहर के पलासिया चौराहा से रीगल चौराहा तक के मार्ग को आदर्श मार्ग के रूप में चिह्नित किया गया है।

Dancing girl indore

इस योजना की खास बात ये है कि, इसके लिए स्कूल व कॉलेज छात्र-छात्राओं को लोगों को जागरुक कराने का माध्यम चुना है। इसी के तहत सिम्बॉयसिस कॉलेज से 10 दिन के लिए ये छात्रा इंदौर आई है। शुभी मूल रूप से बीना की रहने वाली हैं और इंदौर में पढ़ाई कर चुकी हैं। इसलिए वह इंदौर के ट्रैफिक से भी वाकिफ हैं। दो साल पहले शुभी डांसिंग कॉप के नाम से मशहूर ट्रैफिक सिपाही रणजीत सिंह से मिली थीं। उसी समय शुभी ने इसी स्टाइल में योगदान देने की बात कही थी।

इसे भी पढ़ें: सारा अली खान बनी फ़ैशन मैगजीन ग्रेजिया की कवर गर्ल

ट्रैफिक पुलिसकर्मियों की संख्या में कमी

35 लाख की जनसंख्या वाले इंदौर शहर के लिए 850 ट्रैफिक जवानों के पद स्वीकृत हैं, लेकिन वर्तमान में 390 पद खाली हैं। ऐसे में पूरे शहर की ट्रैफिक व्यवस्था महज 460 जवानों के हाथों में है। इसमें भी कई जवानों की ड्यूटी वीआईपी के साथ लगाए जाने के कारण इंदौर के चौराहों पर इनकी संख्या कम पड़ जाती है। ऐसे में शुभी जैसी जागरूक छात्राओं का साथ, इंदौर के ट्रैफिक को सुचारू रखने में मददगार साबित होता है। आपको बता दें कि इंदौर शहर के व्यस्त यातायात को देखकर हाईकोर्ट ये आदेश दे चुका है कि शहर में ट्रैफिक सिग्नल 24 घंटे चालू रखे जाएं। इसके अलावा सुबह 8 से 12 और शाम 5 से 11 बजे तक हर प्रमुख चौराहों और तिराहों पर दो ट्रैफिक पुलिस जवानों को तैनात किया जाए, ताकि लोगों को न केवल ट्रैफिक समस्या से निदान मिल सके बल्कि एक्सीडेंट की संख्या में भी कमी आ सके।

Trending Videos



Loading...

Related Articles

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.