निर्भया के दोषियों के डेथ वॉरट पर फैसला 7 जनवरी तक टला

by Mahima Bhatnagar
nirbhaya

नई दिल्ली। 16 दिसंबर 2012 में हुए निर्भया रेप केस के आरोपियों के डेथ वॉरट का फैसला 7 जनवरी तक के लिए टल गया है। जिसके बाद निर्भया के माता-पिता एक बार फिर निराश दिखाई दिए, क्योंकि उन्होंने चारों दोषियों को जल्द-से-जल्द फांस दिए जाने की मांग के साथ कोर्ट से डेथ वॉरंट जारी करने की गुहार लगाई थी।

इसे भी पढ़ें: निर्भया रेप केस: इंसाफ की मांग आज भी बरकरार

कोर्ट ने कहा कि चारों दोषियों को जेल प्रशासन नोटिस जारी करे। पटियाला हाउस कोर्ट ने कहा कि दोषी अपने बचे सभी कानूनी अधिकार इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके साथ ही अब निर्भया के दोषियों की फांसी कुछ और समय के लिए टल गई है।

जानें कोर्ट ने क्या-क्या कहा

कोर्ट ने तिहाड़ प्रशासन को निर्देश दिया के वे एक सप्ताह के भीतर दोषियों को नोटिस जारी कर उनसे पूछे कि क्या वे दया याचिका दाखिल करना चाहते हैं। कोर्ट ने निर्भया की मां से कहा, ‘हमें आपसे पूरी सहानुभूति है। हमें मालूम है कि किसी की मौत हुई है लेकिन यहां किसी अन्य के अधिकार की भी बात है। हम यहां आपको सुनने के लिए आए हैं लेकिन हम भी कानून से बंधे हैं।’

इसे भी पढ़ें: कब तक होता रहेगा निर्भया का रेप, कब मिलेगा इंसाफ?

सरकारी वकील ने अपनी दलील में कहा था कि दया याचिका लंबित रहने या फिर दोषी दया याचिका दाखिल करना चाहते हैं, ये तथ्य कोर्ट को डेथ वॉरंट जारी करने से नहीं रोक सकते। इसपर दोषी के वकील ने कहा किबिना सभी कानूनी विकल्प के खत्म हुए डेथ वॉरंट जारी नहीं किया जा सकता है।

कोर्ट में मौजूद जेल ऑफिसर ने कहा कि अक्षय और मुकेश ने स्पष्ट कहा है कि वो दया याचिका दाखिल नहीं करेंगे। इसपर जज कहा किहर दृष्टि से कानून का पालन किया जाएगा।