Home मनोरंजनभारतीय सिनेमा चांदनी से लेकर कर्ज तक- ऋषि कपूर का फिल्मी सफर

चांदनी से लेकर कर्ज तक- ऋषि कपूर का फिल्मी सफर

by Mahima Bhatnagar
Rishi kapoor

नई दिल्ली। ऋषि कपूर जिनका नाम सुनते ही ऐसी कई फिल्में हैं जिनका नाम और उनसे जुड़े गाने याद आने लगते हैं। ऐसी फिल्में और गाने जिन्होंने लोगों को आज भी दिवाना बनाया हुआ है। उसका कारण है ऋषि कपूर की बेहतरीन अदाकारी। उनकी एक्टिंग जिसने इन फिल्मों में जान भरी दी। इसी के कारण ये फिल्में लोगों के बीच आज भी जिंदा हैं, और हमेशा जिंदा रहेगी। उन्हीं फिल्मों से जुड़े कुछ पल आज हम ताजा करेंगे।

इसे भी पढ़ें: अमिताभ बच्चन का ऋषि कपूर के लिए ट्वीट- मैं टूट गया हूं

आइए ताजा करते हैं ऋषि कपूर के कुछ यादगार पल

नागीना- श्रीदेवी और ऋषि कपूर स्टारर सुपरनेचुरल फिल्म ‘नगीना’ वाकई में सभी को हैरान कर देने वाली फिल्म थी।

कर्ज (1980)- क़र्ज़ ने ऋषि कपूर के एक्टिंग करियर में मोड़ ला दी थी। उनके अपोजिट टीना मुनिन थी। याद हैं वो गाना ‘एक हसीना थी, एक दिवाना था।

अमर अकबर अन्थोनी (1977)- 70 दशक की सुपरहिट फिल्म अमर अकबर अन्थोनी आज भी सभी याद है। यह तीन भाइयों की कहानी है जो एक दुसरे से बिछड़ जाते है। विनोद खन्ना, अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर तीन भाई थे। सबसे छोटे भाई का करदार ऋषि कपूर ने निभाया था।

इसे भी पढ़ें-मैं ही था, मैं हूं और मैं ही रहूंगा- इरफान खान

चांदनी (1989)- ऋषि कपूर और श्रीदेवी की केमिस्ट्री ने फिल्म चांदनी में तहलका मचा दी थी। इस फिल्म के सारे गाने और कहानी लोगों को बहुत पसंद आई थी। इस फिल्म में गाने जैसे फिल्म का टाइटल सॉन्ग ‘चांदनी ओ मेरी चांदनी’, ‘आ मेरी जान मैं तुझमें अपनी जान रख दूं’, ‘परबत से काली घटा’ आज भी गुनगुना ने मन करता है।

सरगम (1979)- फिल्म सरगम में ऋषि कपूर और जाया बाधुरी की केमिस्ट्री को बहुत सरहाया गया था। इस मूवी का गाना ‘डफली वाले’ बहुत फेमस हुआ था।

कपूर एंड सन्स- इस फिल्म में ऋषि कपूर ने दादा जी का किरदार निभाया था। उनके इस किरदार को काफी सरहाना मिली थी।

इसे भी पढ़ें: इन किरदारों में अपने अभिनय से इरफान ने भरी जान

इतना ही नहीं ऋषि कपूर का फिल्मी सफर बहुत लंबा रहा है, जिसको कभी कोई नहीं भूला सकता। जितना काम उन्होंने किया है, और जिस तरह से किया है वो काबिले तारीफ है। जिसकी चर्चा आज हर कोई कर रहा है। नेता हो या अभी नेता हर कोई उन्हें याद कर रहा है। याद करे भी क्यों नहीं जब इतना अच्छा कलाकर हमारे बीच से चला जाए तो यादे ताजा करनी तो बनती हैं। वो हमेशा कहते थे अच्छा काम करो फल अपने आप अच्छा मिलेगा। उन्होंने कभी नहीं सोचा की जो मैं काम कर रहा हूं उनका क्या परिणाम निकलेगा, बस वो करते गए और लोगों के दिलो में बस्ते गए।

फैंस के दिलों में हमेशा रहेंगे ऋषि कपूर

ऋषि कपूर के फैंस उनसे इतना प्यार करते हैं कि, जैसे ही ये खबर मिली की वो नहीं रहे तो उन्होंने सोशल मीडिया पर अपना दर्द जाहिर किया और ऋषि कपूर को श्रद्धांजलि दी। कुछ लोगों का कहना तो यह भी था कि, अगर ये लटकडाउन नहीं होता तो हम उनकी आखिरी झलक देखने जरूर जाते। लेकिन ऐसा अब नहीं हो पाएगा। हम तो बस अब यही कहेगे आप हमेशा यादों में रहेगे ऋषि कपूर।

Related Articles

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.