Home ट्रेंडिंग न्यूजखबर हटके इस रात बरसेगा चंद्रमा से अमृत

इस रात बरसेगा चंद्रमा से अमृत

by Mahima Bhatnagar

नई दिल्ली। 24 अक्टूबर को इस साल की शरद पूर्णिमा है। इसे अश्विन माह की पूर्णिमा भी कहते हैं। साल में जितनी भी पूर्णिमा आती है उनमे से इस पूर्णिमा को सबसे बड़ी पूर्णिमा मानी जाती है।

इसे भी पढ़ें: लालू के परिवार को जोरदार झटका, जब्त हो सकती है 128 करोड़ की बेनामी संपत्ति

इसी रात भगवान श्रीकृष्ण ने यमुना के तट पर गोपियों संग महारास रचाया था। इसलिए इसे रास पूर्णिमा भी कहा जाता है। मान्यता है कि माता लक्ष्मी इस रात्रि भूलोक के भ्रमण पर होती हैं और जो भी मनुष्य उन्हें जागरण करते हुए मिलता है उस पर अपनी कृपा बरसाती हैं। इस दिन चंद्रमा, पृथ्वी के अत्यंत समीप आ जाता है।

इसे भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट ने हटाई पटाखा बिक्री पर लगी रोक, रखी ये शर्त

इस रात्रि में चंद्रकिरणों का शरीर पर पड़ना बहुत शुभ माना जाता है। इस रात्रि खुले आसमान में खीर बनाकर रखने और प्रात: काल इसका सेवन करने से खीर अमृत के समान हो जाती है। चांदनी में रखी यह खीर औषधि का काम करती है और कई रोगों को ठीक कर सकती है। इस दिन भगवान शिव, माता पार्वती और कार्तिकेय की भी पूजा की जाती है।

इसे भी पढ़ें: आपने देखा है दोमुंह वाला सांप अगर नहीं तो यहां देखें तस्वीरें

Related Articles

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.