क्या मुश्किलें लाएगा ये सूर्य ग्रहण, पढ़ें यहां

by Mahima Bhatnagar
Grahan

नई दिल्ली। साल के आखिर में आज सूर्य ग्रहण पढ़ा है। यह ग्रहण सुबह 8 बजे से दोपहर 1 बजकर 36 मिनट तक रहेगा, लेकिन भारत में इसका असर 10:57 पर खत्म हो जाएगा। इस ग्रहण को लेकर ये कहा जा रहा है कि, साल का आखिरी सूर्य ग्रहण तबाही का कारण बन सकता है। इसलिए लोगों को संभलकर रहने की जरूरत है।

इसे भी पढ़ें: दीपावली के दिन इन विधि विधानों से करें लक्ष्मी-गणेश का पूजन

सूर्य ग्रहण लोगों की सार्वजनिक और व्यक्तिगत जिंदगी दोनों में असर डालेगा। साथ ही इससे बचने के उपाय भी उन्होंने बताए हैं। ये ग्रहण आने वाले साल पर भी असर डालेगा। सूर्य ग्रहण केतु में लग रहा है और यह भारत में भी दिखाई देगा।

सूर्य ग्रहण का समय

इसे कंकणा सूर्य ग्रहण कहा जा रहा है। 9 बजकर 6 मिनट पर कंकण ग्रहण प्रारंभ होगा, जो 12 बजकर 29 मिनट पर समाप्त होगा। सूर्य ग्रहण 1 बजकर 57 मिनट पर खत्म होगा। इसकी कुल अवधि 5 घंटे 36 मिनट होगी।

Loading...

इसे भी पढ़ें: धनतेरस का क्या है महत्व, जानिए पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

प्राकृतिक आपदाओं का कारण

आज काल पुरुष की कुंडली में धनु लग्न उदय हो रहा है। भारतवर्ष की कर्क राशि है। कर्क राशि से छठे भाव में ये ग्रहण लगा है। छठा भाव रोग, शत्रु, परेशानी, विपत्ति और प्राकृतिक आपदा के लिए जिम्मेदार होता है।

ऐसे में प्राकृतिक आपदा के रूप में भूकंप, भारी वर्षा या भयंकर बर्फबारी की आशंका भी बन सकती है। ओलावृष्टि की तबाही से सबसे ज्यादा खतरा फसलों को होगा। मुख्यतौर पर गन्ने की फसल को सबसे ज्यादा नुकसान हो सकता है। ग्रहण लगने के 15 दिन पहले और 15 दिन बाद संभलकर रहने की जरूरत होती है।

इसे भी पढ़ें: क्यों रखा जाता है करवाचौथ का व्रत

गृभवती महिलाएं रखें अपना ख्याल

इस ग्रहण के खत्म होने तक गृभवती महिलाओं को अपना खास ध्यान रखना होगा। क्योंकि इसका प्रभाव उनके होने वाले बच्चे पर पढ़ सकता है। इसलिए घर से बाहर ना निकले, भगवान का ध्यान करें और जितना हो सके सूर्य को ना देखे।

इस सूर्य ग्रहण को पीएम मोदी ने भी देखा

Trending Videos



Loading...

Related Articles

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.