लॉकडाउन: सरकार का बूस्टर डोज, किसान-मजदूर-महिलओं की हसंभव मदद का किया ऐलान

by Mahima Bhatnagar
nirmala-sitharaman

कोरोना वायरस की वजह से देश में 21 दिनों का लॉकडाउन है। इस लॉकडाउन के कारण कोई कही जा सकता है बस जरूरी सामान और आपातकालीन स्थिति में ही वो बाहर सड़क पर निकल सकता है। इस वायरस का असर लोगों की हेल्थ पर ही नहीं बल्कि देश की इकोनॉमी झेलना पड़ रहा है। इस बीच, सरकार की ओर से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बड़ी राहत दी है। उन्होंने बताया कि गरीब कल्याण योजना के तहत गरीबों को 1.70 लाख करोड़ की मदद की जाएगी।

आइए जानते हैं कौनसी है वो मदद जो सरकार द्वारा दी गई है।

निर्माण वर्कर्स के लिए उनके वेलफेयर फंड में 31 हजार करोड़ है और 3.5 करोड मजदूर हैं केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से कहा है कि उन्हें किसी आपदा की स्थिति में मदद करें, अभी कोरोना लॉकडाउन में ऐसे हालात हैं, इस धन का इस्तेमाल कर हम चाहते हैं राज्य सरकारें उन्हें फायदा पहुंचाएं।

इसे भी पढ़ें: भारत में कोरोना: प्रधानमंत्री मोदी आज 8 बजे फिर करेंगे देश को संबोधित

पीएफ स्कीम रेगुलेशन में बदलाव कर नॉन रिफंडेबल एडवांस 75 फीसदी जमा रकम या तीन महीने के वेतन केे निकालने की सुविधा दी जाएगी। 100 तक कर्मचारियों वाले संगठन जिनके 90 फीसदी का हिस्सा 15 हजार से कम वेतन वाले हों। 80 लाख कर्मचारियों को और 4 लाख प्रतिष्ठानों को फायदा मिलेगा।

पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप के तहत 7 करोड़ परिवारों को फायदा मिलता है, दीन दयाल राष्ट्रीय ग्रामीण जीविका योजना के तहत इन्हें जमानत फ्री लोन दोगुना बढ़ाकर 20 लाख रुपये किया जाएगा। इससे 63 लाख लोगों को फायदा मिलेगा।

Loading...

वहीं उज्ज्वला योजना के तहत 8 करोड़ बीपीएल परिवारों को तीन महीने तक फ्री सिलिंडर मिलेगा।

करीब 20 करोड़ महिलाओं के खाते में अगले तीन महीने तक 500 रुपये प्रति माह दिए जाएंगे। ये रकम जनधन खाते में दिए जाएंगे।

इसे भी पढ़ें: चीन में इंसान से इंसान में फैलने वाले कोरोना वायरस से दुनिया भर में खौफ

निर्मला सीतारमण ने बताया कि बुजुर्ग, विधवा और दिव्यांगों के लिए 1000 रुपये अतिरिक्त दिए जाएंगे। ये अगले तीन महीने के लिए है। इसे दो किस्त में दिया जाएगा। इस वर्ग के लोगों को डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर किया जाएगा। इस पहल का फायदा लगभग 3 करोड़ लोगों को होगा।

मनरेगा के तहत आने वाले वर्कर्स की दिहाड़ी बढ़ा दी गई है। ये दिहाड़ी पहले 182 रुपये थी, जो अब 202 रुपये हो गई है। इसका फायदा 5 करोड़ परिवार को होने की उम्मीद है।

8.65 करोड़ किसानों को अप्रैल के पहले हफ्ते में 2 हजार रुपये की किस्त डाल दी जाएगी। ये किस्त किसान सम्मान निधि योजना के तहत दी जा रही है। बता दें कि किसानों को सालाना 6 हजार रुपये दिया जाता है।

वित्त मंत्री ने कहा कि जो कोरोना कमांडोज इस जंग को लड़ रहे हैं, उन्हें 15 लाख का लाइफ इंश्योरेंस दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: कोरोना का खौफ: दुनिया से कटा भारत, इन देशों के वीजा रद्द

वित्त मंत्री ने साथ ही बताया कि कोई गरीब भूखा न रहे, इसके लिए सरकार ने इंतजाम किए हैं। निर्मला सीतारमण ने बताया कि प्रधानमंत्री अन्न योजना के तहत 5 किलो अतिरिक्त गेहूं या चावल अगले तीन महीने तक मिलेगा। इसका फायदा 80 करोड़ लाभार्थी को मिलेगा। इसके अलावा 1 किलो दाल का प्रावधान किया गया है।

इससे पहले 24 मार्च को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम लोगों से जुड़े कई ऐलान किए थे। इसके तहत अगले 3 महीने के लिए ATM से कैश निकालना फ्री कर दिया गया है। मतलब ये कि अगर आप किसी भी बैंक के एटीएम से कैश निकालते हैं तो उस पर कोई चार्ज नहीं लगेगा। इसके साथ ही मिनिमम बैलेंस का झंझट भी खत्म हो गया है। वहीं, वित्त मंत्री ने सभी व्यापार वित्त ग्राहकों के लिये डिजिटल कारोबार सौदे को लेकर बैंक शुल्क कम करने की भी घोषणा की है। डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिये यह कदम उठाया गया है।

Trending Videos



Loading...

Related Articles

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.